B’day special: गेंदबाज उमेश यादव की कुछ खास बातें, जिनका असली लक्ष्य नहीं था क्रिकेट

नई दिल्ली। इंडियन क्रिकेट टीम के उभरते गेंदबाज उमेश यादव की आज जन्मदिन है। अपनी शानदार गेंदों से बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाने वाले उमेश का क्रिकेट करियर देखने लायक है। ये घरेलू क्रिकेट के विदर्भ के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिसने टेस्ट क्रिकेट खेला है।

उमेश के बारे में कुछ खास

25 अक्टूबर 1987 को उमेश का जन्म देवरिया में हुआ था। उमेश यादव के पिता उत्तरप्रदेश के रहने वाले थे। वह नागपुर के निकट खापरखेड़ा की वेस्टर्न कोल लिमिटिड की कॉलोनी में रहते थे और वहीं कोयला खदान में काम करते थे। उमेश यादव आज भारतीय क्रिकेट टीम की गेंदबाजी की रीढ़ माने जाते हैं।

उमेश यादव

सेना और पुलिस में चाहते थे काम

क्रिकेट करियर की शुरुआत से पहले उमेश यादव ने सेना और पुलिस में नौकरी पाने की कोशिश की थी। वह सेना और पुलिस में सिपाही बनना चाहते थे।

शादी के बंधन में उमेश

6 अप्रैल 2013 को उमेश यादव ने दिल्ली में रहने वाली फैशन डिजाइनर तान्या वाधवा से शादी की जो काफी खूबसूरत हैं।

उमेश यादव

टेनिस बॉल के साथ थी खेलने की आदत

उमेश यादव ने पहली बार लेदर की गेंद से गेंदबाजी की। इसके पहले वह टेनिस बॉल से खेलते थे। विदर्भ की टीम को घरेलू क्रिकेट में एक पिछड़ी हुई टीम के तौर पर जाना जाता है।

उमेश की गेंदबाजी का हुनर

उमेश 140 किलोमीटर की रफ्तार से लगातार गेंद फेंकने की क्षमता रखते हैं। इन स्विंग और आउट स्विंग के साथ बाउंसर फेंकने पर उनकी पकड़ है। उनकी इसी खासियत ने 2008-09 में विदर्भ के लिए पदार्पण करने के साथ ही उन्हें केवल चार मैच में 14.60 की औसत से 20 विकेट दिलाए।

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *