नाहरगढ़ किले में लटकी लाश से ‘पद्मावती’ का क्या ताल्लुक?

जयपुर । नाहरगढ़ किले की दीवार पर 40 साल के चेतन कुमार सैनी की लाश लटकी मिली. लेकिन जिस जगह लाश मिली वहां किले की चट्टानों-पत्थरों पर कुछ ऐसी भड़काऊ बातें लिखी हुई हैं. जो इस ओर इशारा करती हैं कि ये सुसाइड नहीं बल्कि मर्डर था !

इस मामले का पता उस वक़्त चला जब अलसुबह यहाँ लोग मॉर्निंग वॉक के लिए यहाँ आए। इस दौरान लोगों को नाहरगढ़ की प्राचीर दीवार पर युवक की लाश लटकते हुए मिली।

nahargarh fort

लाश देखकर यहाँ मौजूद लोग सहम गए और पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस समेत तमाम उच्चधिकारी मौक़े पर पहुँचे। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने एफएसएल की टीम और सिविल डिफ़ेंस की टीम को मौक़े पर बुलाया।

सिविल डिफ़ेंस की टीम ने रस्सियों के सहारे फंदे पर लटके हुए शव को खींचकर ऊपर लाए और गले से फंदा निकाला। इस दौरान पुलिस को मृतक की जेब से एक आधार कार्ड मिला, जिसमें उसकी पहचान जयपुर के शास्त्री नगर नाहरी का नाका के रहने वाले चेतन सैनी के रूप में हुई। इस दौरान एफएसएल की टीम ने मौक़े से साक्ष्य और नमूने जुटाए और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

पुलिस की माने तो घटनास्थल का मौक़ा मुआयना करने के बाद यहाँ हत्या करने की किसी भी तरह की हलचल नहीं पाई गई है, हालाँकि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही युवक की हत्या और आत्महत्या के बारे में पता चल पाएगा।

चेतन पर लाखों रुपए का था क़र्ज़

पुलिस की प्रारम्भिक जाँच में सामने आया है की चेतन पर लाखों रुपए का क़र्ज़ा हो गया था। यही नहीं जाँच में सामने आया है की मृतक चेतक ज्वैलरी स्टोन का काम करता था पिछले कुछ समय से उसका काम धंधा भी सही से नहीं चल रहा था। पुलिस की जाँच में चेतन की किसी से भी रंजिश की बात भी सामने नहीं आयी है।

हालाँकि परिजनों ने पूरे मामले में चेतन की हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। उनका कहना है की चेतन शराब भी नही पीता था, ऐसे में 700 फ़ीट ऊँचाई पर जाकर वह कभी आत्महत्या भी नही कर सकता है।

ऐसे गहरा रहा हत्या का शक

उधर मौके की स्थिति और परिजनों से हुई बातचीत को देख जाए तो चेतन की आत्महत्या एक हत्या की ओर इशारा कर रही है। चट्टानों पर जो भी कुछ लिखा हुआ है वह कोयले से है, लेकिन चेतन के हाथों की अंगुलियों पर कोयले का काला रंग नहीं नजर आया।

यही नही, मौके पर पत्थरों पर पद्मावती के अलावा लिखा है कि ‘हम काफिर को लटकाकर मारेंगे। हमें लुटेरा कहने वालों अल्लाह इंसाफ करेगा, हर काफिर को मारेंगे। लुटेरे नहीं अल्लाह 1के बंदे हैं, एक-एक दस पर भारी है। चेतन तांत्रिक मारा गया।‘…

फ़िल्म पद्मावती से जुड़ी इन बातों से मृतक चेतन को कोई लेना देना नही था और ना ही वो किसी संगठन या आंदोलन का हिस्सा रहा है। ऐसे में यह तमाम बातें हत्या की ओर इशारा कर रही हैं। बहरहाल पुलिस अब इस मामले की जाँच पड़ताल में जुट गई है की ये मामला हत्या है या आत्महत्या, जिसका ख़ुलासा पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद हो जाएगा।

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *