वर्ल्ड बैंक की रैंकिंग में 30 पायदान ऊपर चढ़ा भारत, अब कारोबार करना होगा आसान

नई दिल्ली- भारत में कारोबार करना पहले और ज्यादा आसान हो गया है. विश्वबैंक की रिपोर्ट में यह बात कही गई है. देश की रैंकिंग 30 पायदान सुधरकर 100वें स्थान पर पहुंच गई है। भारत पिछले साल 190 देशों की सूची में 130वें स्थान पर था। इस साल के आकलन में यह टॉप 10 सुधारकर्ता देशों में एक है। इस रिपोर्ट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एतिहासिक छलांग करार दिया है।

अरुण जेटली

भारत के लिए पहला मौका 

यह पहला मौका है जब भारत इस मामले में 100 देशों में शामिल हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कारोबार सुगमता की रैंकिंग में ऐतिहासिक छलांग ‘टीम इंडिया’ के चौतरफा एवं बहु-क्षेत्रीय सुधार कदमों का नतीजा है। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले तीन सालों में हमने कारोबार को सुगम बनाने की ओर राज्यों के बीच सकारात्मक स्पर्धा की भावना देखी है।

100 देशों में शामिल हुआ भारत

पीएम मोदी ने कहा है कि हम ‘रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफार्म’ के मंत्र के साथ रैंकिंग में और सुधार करने और अधिक आर्थिक वृद्धि हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। सालाना रिपोर्ट ईज डूइंग बिजनेस 2018 रिफॉर्मिंग टू क्रिएट जॉब्स’ में वर्ल्ड बैंक ने हालांकि रैंकिंग में जीएसटी क्रियान्वयन के बाद के कारोबारी माहौल पर गौर नहीं किया है।

इन मामलों में मिली भारत को रैंक

छोटे शेयर धारकों को बढ़ावा देने के मामले में भारत 5वें स्थान पर है।

बिजली कनेक्शन देने के मामले में भारत की हालत काफी खराब है और वह 126वीं रैंक पर है।

भारत में नया बिजनेस शुरू करने के मामले में भारत को 156वीं रैंक मिली है।

कॉन्ट्रैक्ट लागू करवाने के मामले में भारत को 164वीं रैंक मिली है।

प्रॉपर्टी रजिस्टर मामले में भारत अब भी 154वें स्थान पर है।

सीमा पार व्यापार करने के मामले में 146वें स्थान पर ।

भारत दिवालिया मामलों से निपटने में 103वीं रैंक पर है।

बिजनेस रैंकिंग में भारत 29वें स्थान पर है।

टैक्स भुगतान मामले में वर्ल्ड बैंक ने भारत को दिया 119वां स्थान ।

 

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *