थायराइड रोग दूर करता है जादुई शब्द ‘ऊॅं’, विदेशों में अॉपरेशन से पहले होता है उच्चारण

जादुई शब्द

JioFeed Desk

लखनऊ। ऊॅं जादुई शब्द है। आमतौर पर इस शब्द को धर्म से जोड़कर देखा जाता है लेकिन इस शब्द का धार्मिक, पौराणिक से साथ ही वैज्ञानिक महत्व भी है। शब्द का महत्व यह है कि इसका धीरे-धीरे उच्चारण करने से जो कम्पन पैदा होता है उससे शरीर के अंदर के बैक्टीरिया सांसों के साथ बाहर निकल जाते हैं। यही नहीं आस-पास का वातावरण भी शुद्ध हो जाता है। इसके उच्चारण से थायराइड, तनाव सहित कई रोग दूर हो जाते हैं। इसकी महिमा विदेशों तक है। वहां अॉपरेशन से पहले ॐ शब्द का उच्चारण करते हैं।

वरिष्ठ आयुर्वेद विशेषज्ञ व योगाचार्य डॉ देवेश श्रीवास्तव बताते हैं कि ॐ जादुई शब्द का उच्चारण करने से जहां वातावरण अभिमंत्रित हो जाता है वहीं शरीर के अंदर ॐ बोलने से जो कंपन पैदा होता है उससे शरीर के अंदर और आसपास टिशू में बैठे बैक्टीरिया सांसों के साथ बाहर निकल जाते हैं। उन्होंंने बताया कि ॐ शब्द का उच्चारण थायरायड ग्रंथि पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। इसी प्रकार घबराहट होने या अधीरता की स्थिति में भी ॐ का उच्चारण बहुत फायदेमंद है। उन्होंने बताया कि इसका उच्चारण शरीर के विषैले तत्वों को दूर करने में सहायक होता है यानी तनाव में पैदा होने वाले द्रव्यों पर नियंत्रण करता है। यही नहीं यह खून के प्रवाह को संतुलित रखता है। इसके उच्चारण से पाचन शक्ति तेज होती है तथा शरीर में युवावस्था वाली स्फूर्ति का संचार होता है। डॉ. देवेश बताते हैं कि ॐ शब्द के उच्चारण मात्र से अस्पताल, यहां तक कि ऑपरेशन थियेटर के अंदर का भी वातावरण शुद्ध हो जाता है। उन्होंने बताया कि जब मरीज को ऑपरेशन टेबल पर ले जाया जाता है और ऑपरेशन की तैयारियां चल रही होती हैं उस दौरान इतना समय होता है कि चिकित्सक या अन्य लोग ऊॅं का उच्चारण कर लें इससे ऑपरेशन थियेटर के अंदर का वातावरण अभिमंत्रित हो जाता है जिसका सीधा प्रभाव सर्जरी पर पड़ता है। उन्होंने बताया कि विदेशों में सर्जन सर्जरी से पूर्व ऑपरेशन थियेटर में ॐ का उच्चारण करते भी हैं।

उच्चारण में रखें इस बात का ध्यानजादुई शब्द

 

 

 

 

डॉ. देवेश ने बताया कि इसके उच्चारण के लिए ओम बोलने में 50 -50 प्रतिशत जोर ‘ओ’ और ‘म’ पर देना चाहिए, यानि कि जितने  समय में ओ कहा है उतना ही समय म कहने में लगाना चाहिए। उदाहरण के लिए ॐ कहने में अगर 10 सेकंड लगे हैं तो 5 सेकंड ओ और 5 सेकंड म कहना चाहिए। उन्होंने बताया कि ॐ के उच्चारण से थकान भी दूर होती है, साथ ही ॐ के उच्चारण से नींद न आने की समस्या भी कुछ ही समय में दूर हो जाती है।

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *