मुसलमान भाइयों के ये 5 अविष्कार दुनिया के लिए वरदान, आज इनके बिना नहीं चलता किसी का काम

अविष्कार ही निर्माण है, यह बात आज पूरी दुनिया जानती है। आज हम अपने कई रोजमर्रा के कामों के लिए इन्हीं के सहारे करते हैं। हैंडिग पढ़कर ये  बिलकुल न समझें कि हम आपको मजहबी तौर पर बांट रहे हैं। दरअसल कभी-कभी किसी के कामों को अगर हम अलग से तवज्जो देते हैं तो उसे खुशी मिलती है।

तो शुरुआत करते हैं कॉफी से, शायद ही आप जानते हों कि पूरी दुनिया में हर रोज़ तकरीबन 1 अरब 60 लाख कप कॉफी लोग पीते हैं। मतलब आप अगर डेली रूटीन के हिसाब से अगर 365 दिन के अंदाजा लगाएंगे तो आपको कॉफी की खपत का अंदाजा लगाना मुश्किल होगा। अब सबसे बड़ी बात यह जान लीजिए कि यह एक मुस्लिम की देन है।

अविष्कार

 

इतिहास के दस्तावेज़ों के अनुसार 1400 यमन में साउथर्न अरेबियन पेनिन्सुला में मुस्लिमों के बीच कॉफी पसंदीदा पेयपदार्थ था! कहते हैं कि एक व्यक्ति ने ध्यान दिया कि उसकी बकरी जब भी पेड़ के पास लगे बीन्स को खाती है तो ज्यादा फूर्तिली हो जाती है।

फिर उसने वो बीन्स खुद ट्राई किए और उसे भी एनर्जी का एहसास हुआ। बाद में उन्होंने इसे पानी और दूध में मिलाकर पीना शुरू किया, जिसके बाद से ये एक परंपरा बन गई।

वीडियो देखें:

अलजेब्रा

मैथ में आज बच्चे जिस अलजेब्रा में फंस जाते हैं उसमें भी एक मुस्लिम का योगदान रहा। ये टर्म महान वैज्ञानिक और गणितज्ञ मुहम्मद इब्र मूसा अल खावरिज़मी ने इजाद किया था। जो पर्शिया इराक से थे।

अविष्कार

ग्रांटिंग युनिवर्सिटी

आज दुनियाभर में युनिवर्सिटी सिस्टम शुरू हो गया है। तो जान लीजिए कि इस्लाम धर्म में शुरुआती दौर में मस्जिदों में तालीम और जरूरी शिक्षा दी जाती थी। फिर आगे चलकर इसे मदरसों में बदल दिया गया। पहला मदरसा अल-करऔइन ने 859ईश्वी में मोरक्को में बनवाया गया जो बाद ये यूनीवर्सिटी में बदल गया।

अविष्कार

मिलिट्री मार्चिंग बैंड

आज हर स्कूल में बच्चों को परेड सिखाने के लिए मार्चिंग बैंड का इस्तेमाल करते हैं। ये कुछ म्यूजिशियन का समूह होता है जो एक आज गानों और स्पोर्ट में यूज होता है। वैसे ये यूरोप में इजाद हुआ और सिपाही इसे युद्ध के दौरान मनोरंजन के लिए इस्तेमाल करते थे।

अविष्कार

अविष्कार

कैमरा

खुद को या दूसरों को चंद मिनटों में एक कागज़ के टुकड़े में उतारने का शौक एक कैमरा पूरी करता है। इसकी खोज 11वीं शताब्दी में मुस्लिम वैज्ञानिक इब्न अल हैथम ने की थी। इन्होंने ही फील्ड्स ऑफ ऑप्टिकल्स को डेवलप किया और बताया कि कैमरा कैसे काम करता है।

अविष्कार

अविष्कार

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *