अब जंतर मंतर पर नहीं दिखाई देंगे धरना प्रदर्शन, NGT ने जारी किए निर्देश

नई दिल्ली। एनजीटी ने दिल्ली सरकार, एनडीएमसी और दिल्ली पुलिस को आदेश जारी किए हैं कि, दिल्ली में जंतर मंतर क्षेत्र में सभी धरना-प्रदर्शनों और लोगों के इकट्ठा होने को तत्काल रोका जाए। न्यायमूर्ति आर एस राठौर की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद को कनॉट प्लेस के पास स्थित जंतर मंतर रोड से सभी अस्थायी ढांचों, लाउडस्पीकरों और जन उद्घघोषणा प्रणालियों को हटाने के भी निर्देश दिये।

जंतर-मंतर पर बंद होगा धरना प्रदर्शन

पीठ ने कहा है कि दिल्ली सरकार, एनडीएमसी और दिल्ली के पुलिस आयुक्त जंतर-मंतर पर धरना, प्रदर्शन, आंदोलनों, लोगों के इकट्ठा होने, लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल आदि को तुरन्त रोकें।

रामलीला मैदान में शिफ्ट होंगे धरने पर बैठे लोग
एनजीटी ने प्रदर्शनकारियों, आंदोलनकारियों और धरने पर बैठे लोगों को वैकल्पिक स्थल के तौर पर अजमेरी गेट के रामलीला मैदान में तुरन्त शिफ्ट करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये हैं ।

पयार्वरणीय कानूनों का किया जा रहा उल्लंघन
एनजीटी का कहना है कि इस क्षेत्र का लगातार इस्तेमाल प्रदूषण निवारण एवं नियंत्रण अधिनियम, 1981 समेत पयार्वरणीय कानूनों का उल्लंघन है। इसके आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को शांतिपूर्ण और आरामदायक ढंग से रहने का अधिकार है और उनके आवासों पर प्रदूषण मुक्त वातावरण होना चाहिए।

क्या कहा गया था याचिका में ?
याचिका में आरोप लगाया गया था  कि जंतर मंतर पर सामाजिक समूहों, राजनीतिक पार्टियों, एनजीओ की तरफ से किये जाने वाले आंदोलन और जुलूस क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण का एक बड़ा कारण हैं। यहाँ नियमित रूप से प्रदर्शन करना शांतिपूर्ण ढंग से और स्वस्थ वातावरण में जीने के अधिकार, शांति के अधिकार, नींद लेने के अधिकार और सम्मान के साथ जीने के अधिकार का उल्लंघन है।

ALSO READ: जियो का 1500 का क्वार्टी फोन नहीं… उसका 2392 में सबकुछ अनलिमिटेड देने वाला स्मार्टफोन लीजिए

ALSO READ: क्या इस वजह से छीना गया है इस सुंदरी का ताज ?

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *