प्रद्युम्न मर्डर केस: सीबीआई के दावे कितने सही ?

गुरुग्राम। प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच सीबीआई के पास पहुंचते ही एक नया मोड़ आ गया है। टीम ने स्कूल के ही एक छात्र को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की है।सीबीआई ने अपनी जांच में स्‍कूल के ही एक छात्र को प्रद्युम्‍न की हत्‍या का  जिम्‍मेवार माना है। कक्षा 11 में पढ़ने वाले इस छात्र की उम्र 16 साल की है।

pradyuman thakur

सीबीआई का कहना है कि, छात्र ने बताया है, स्‍कूल में होने वाली पैरेंट्स मीटिंग और परीक्षा से बचने के लिये उसने प्रद्युम्‍न की हत्‍या की थी। हत्‍या के लिए चाकू उसने एक दिन पहले लिया था। सीबीआई ने पूरे मामले की जांच सीसीटीवी फुटेज से की है। जांच के लिए सीबीआई ने क्राइम सीन को फिर से तैयार किया था।

 सीबीआई के दावों पर सवाल

1.क्या 11वीं का छात्र किसी पेशेवर अपराधी की तरह इस हत्याकांड को अंजाम दे सकता है?
सीसीटीवी फुटेज में इस आरोपी छात्र के साथ ही कंडक्टर अशोक और पांच लोग भी देखे गए थे.

2.अशोक उस समय वहां कैसे और क्यों पहुंचा था इस  पर सीबीआई ने कुछ नहीं कहा है.
3.पुलिस के मुताबिक, मामले में गिरफ्तार किए गए बस कंडक्‍टर अशोक ने हत्‍या की बात स्‍वीकार की थी.

4.अशोक ने बताया कि उसने बच्‍चे को यौन हमले का शिकार बनाने की कोशिश की थी, इसका विरोध करने पर उसने बच्‍चे की हत्‍या की.
5.अशोक ने हरियाणा पुलिस के सामने शुरू में क्यों जुर्म कबूला था इस पर भी सीबीआई कुछ भी साफ तरीके से नहीं बता पाई है.

6.सीसीटीवी फुटेज में बाकी लोग कौन थे इस पर भी कुछ नहीं बताया गया है.

हरियाणा सरकार की टीम ने की थी मामले की जांच

1.इस केस की जांच के लिए हरियाणा सरकार द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम ने अपनी रिपोर्ट गुड़गांव पुलिस को सौंपी थी।

2.इस रिपोर्ट में रेयान इंटरनेशनल स्कूल की कई कमियां सामने आई थी। सबसे बड़ी बात ये कि स्कूल कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब मिले थे। यहां तक कि स्कूल बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे अंदर आना-जाना बेहद आसान था।

3.स्कूल की बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे स्कूल के अंदर आना जाना बेहद आसान था। स्कूल में काम करने वाले कर्मचारियों का किसी भी तरह का कोई पुलिस वैरिफेकेशन नहीं हुआ था।

4.रिपोर्ट में बताया गया है कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरे खराब थे। ड्राइवर और कंडक्टर छात्रों के टॉयलेट का ही इस्तेमाल करते थे।

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *