‘ऐ सत्ता की भूख सब्र कर’… से शुरू हुआ स्मृति का राहुल को जवाब, अंत आप खुद पढ़ लीजिए

नई दिल्ली। स्मृति ईरानी ने शनिवार को एक ट्वीट किया- ऐ सत्ता की भूख-सब्र कर, आंकड़े साथ नहीं तो क्या/खुदगर्जों को जमा कर, मुल्क की बदनामी का शोर तो मचा ही लेंगे। उन्होंने आदरणीय कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर उन्हीं के अंदाज में पलटवार किया।

दरअसल ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत के 100वें पायदान पर खिसकने को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर शायराना अंदाज में हमला बोला था। जिसका जवाब देने के लिए ईरानी ने उन्हीं का अंदाज इस्तेमाल किया।

स्मृति ईरानी

राहुल गांधी का सरकार पर हमला

शुक्रवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दुष्यंत कुमार की एक शायरी के साथ भूखमरी की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार को घेरा था। उन्होंने ट्वीट किया था- भूख है तो सब्र कर, रोटी नहीं तो क्या हुआ।

उनके इस ट्वीट के बाद केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी जवाब दिया था। उन्होंने कहा था, राहुल गांधी दुष्यंत कुमार को कितना जानते हैं, देश पूछेगा? UPA की सरकार में देश के लोग कितना भूखे रहे हैं ये भी देश पूछेगा।”

हंगर इडेक्स में भारत सिर्फ तीन पायदान नीचे खिसका, फिर बवाल क्यों?  

119 देशों के ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत तीन पायदान नीचे खिसककर 100वें स्थान पर पहुंच गया है। पिछले साल भारत इस सूचकांक (इंडेक्स) में 97वें पायदान पर था। ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट-2017 के मुताबिक इस मामले में भारत उत्तर कोरिया, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार जैसे देशों से भी पीछे है, लेकिन पाकिस्तान से आगे है।

भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में बीते एक साल में तीन स्थान और बीते तीन वर्षों में 45 स्थान नीचे चला गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस सूचकांक में चीन की रैंकिंग 29, नेपाल 72, म्यांमार 77, श्रीलंका 84 और बांग्लादेश 88 स्थान पर हैं यानी भारत इन पड़ोसी देशों से भी पीछे है। हालांकि पाकिस्तान और अफगानिस्तान क्रमश: 106वें और 107वें स्थान पर हैं।

Also Read: RIL Q2 और JIO को हुआ करोड़ों का घाटा, ‘सस्ता इंटरनेट’ इस्तेमाल करने वालों… घबराहट हुई क्या?

Also Read: खतरनाक साबित हो सकता है इन ब्यूटी प्रोडक्ट्स का लंबे समय तक इस्तेमाल

Loading...
loading...



2 thoughts on “‘ऐ सत्ता की भूख सब्र कर’… से शुरू हुआ स्मृति का राहुल को जवाब, अंत आप खुद पढ़ लीजिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *