शनि की बदल रही दशा, ऐसा करने से आपको मिलेगी शांति

शनि ग्रह जीवन की बड़े-बड़े ग्रहों में से एक है। शनि ग्रह को शांत करने के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते हैं। यह ग्रह आप पर हावी न हो इसके निए कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है। 26 अक्तूबर को शनि महाराज की दशा बदल रही है। आपको इसके लिए चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। आज हम आपको एक एसा मंत्र बताने जा रहे हैं जो आपको शनि की शांति प्रदान करेगा। जिससे आपर पर कोई भी ग्रह हावी नहीं हो पाएगा।

शनि ग्रह

आपको अन्य कुछ उपाय करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। बस, आपको शांत चित्त से और मनोयोग  से इस जाप को करना होगा। यह जाप आप प्रतिदिन भी कर सकते हैं। शनिवार की शाम को सरसो के तेल का दीपक जलाकर अवश्य करें। यह दुर्गा जी का सिद्ध मंत्र है। सप्तश्लोकी मंत्र है।

इस प्रकार करें
ऊं शं शनिश्चरायै नम: ऊं सर्वाबाधाप्रशमनं त्रैलोक्यस्याखिलेश्वरी। एवमेव त्वया कार्यमस्मद्वरिविनासनम्।
इस मंत्र की एक माला कर लें। शनि पीड़ा शांत।

शिव मंत्र के साथ ये करें
ऊं नम: शिवाय
ऊं सूर्यपुत्रो दीर्घ देहो
विशालाक्ष शिवप्रिय:।
मंदचार: प्रसन्नात्मा
पीडां हरतु मे शनि:।।

Also Read: इस वजह से एक ही डॉक्टर के पास पहुंचे विराट-अनुष्का, दिसम्बर में मिल सकती है बड़ी खुशखबरी

Loading...
loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *